Total Pageviews

Tuesday, June 22, 2010

श्यामकांत भी हाज़िर हैं ................









5 comments:

psingh said...

shyamu
yar bahut sundar art
mai to bachpan se ap ki art prasanshk raha hun ..........
abhar

pankaj said...

पेंटिंग.. आर्ट... चित्रकारी मेरे बचपन से ही ''पैशन'' रहे हैं ! समय के साथ इस पर कम ध्यान दे पाया... पर श्यामू जो मुझे बिलकुल अपने ''क्लोन'' जैसे दीखते हैं... उन्होंने मेरे हर शौक और अंदाज़ को अपनाया है ! उन्हें देखकर मैं एक दशक पहले के ''खुद'' को पाता हूँ !

श्यामू एक लाज़वाब ''आर्टिस्ट'' हैं ! मानव आकृतियों को उकेरने वाला ऐसा कलाकार... ऐसा चितेरा ... इस प्रथ्वी पर कोई दूसरा नहीं है ! श्यामू के एक - एक हुनर पर मेरी ज़िन्दगी कुर्बान... ! !

SINGHSADAN said...

सुन्दर...अतिसुन्दर...
hirdesh

Neha (Bitiya) said...

बहुत ही शानदार चित्रकारी ..............
आपके आगे मैं अपनी कला को बहुत कमजोर मानती हूँ .......
पेन से हूबहू शक्ल बनाना किसी और बस की बात नहीं है ............

SINGHSADAN said...

श्यामू,
क्या बेहतरीन स्केच ब्लॉग पर डाले हैं......तीनों ही तस्वीरें सजीव जन पड़ती हैं. हाव भाव ऐसे कि लगता है कि तस्वीरें अभी बोल पड़ेंगी.
तुम्हारी और पंकज की आर्ट और स्केचिंग तो बहुत ही अच्छी है.....यह ऎसी विधा है जहाँ मेरा दखल "जीरो" के बराबर है.....सिर्फ देख कर तारीफ कर सकता हूँ.....फिर चला इन तस्वीरों को देखने के लिए.

*****PK