Total Pageviews

Wednesday, June 30, 2010

आप जैसा कोई नहीं .......

सिंह सदन परिवार और इस परिवार से जुड़े सभी सदस्यों को मेरा प्रणाम । सिंह सदन कि हौसलाअफजाई को में धन्यवाद देता हूँ । में जैसे ही मैनपुरी आया मुझे पता चला की हमारे बड़े भैया की तबियत ख़राब है उनके स्वस्थ होने की कामना में जितने हाथ उठ रहे थे , मेरे आने से उनमे दो हाथों की और वृद्धि हो हो गयी । भैया शीघ्र स्वस्थ हो जाएँ यही हम दुआ करते हैं ........


ब्लॉग पर सभी को मौका दिया जा रहा है इसलिए मैं भी 'सिंह सदन प्रोडक्शन' के हेड के बारे में विशेष वर्णन करना चाहता हूँ ..............

मैं जानता हूँ कि मैं इस योग्य नहीं हूँ कि श्यामू भैया को शब्दों में उकेर सकूँ । पर ये संभव ही नहीं कि इस ब्लॉग पर मैं उपस्थित रहूँ और उनके विषय में जिक्र ना करूँ । मेरी नज़र में श्यामू भैया एक आदर्श व्यक्ति हैं जो गलतियों और कमियों से कोसों दूर हैं , सदगुणों का भण्डार हैं । वो एक प्रभावशाली व्यक्तित्व हैं । वे सच्चे इंसान हैं । झूठ और बेईमानी से उनका कोई नाता नहीं है । लोगो को परखने की उनमें अचूक क्षमता हैं । दुनियादारी की समझ उन्हें और प्रभावित बनाती हैं । वो अनोखें हैं ..... अद्भुत हैं ............

मैं और मेरी पूरी टीम सौभाग्यशाली है कि हमें उनके साथ काम करने का मौका मिलता है ........ उनसे सीखने का मौका मिलता है । हम बात कर रहे हैं 'सिंह सदन प्रोडक्शन ' के कलाकारों की .............


मेरी समझ में कुछ नहीं आ रहा है कि मैं भैया के गुणों का कैसे बखान करूँ । मेरी नज़र जिस क्षेत्र पर पड़ती है श्यामू भैया उस क्षेत्र के बादशाह नज़र आते हैं । जब भी वह किसी चित्रकार के सामने होते हैं, अपनी अद्भुत चित्रकारी से अपना शिष्य बना लेते हैं ।


अध्ययन में तो वो अव्वल हैं ही शायद ही ऐसा कोई क्षेत्र हो भैया जिसकी जानकारी न रखते हों ।मैनपुरी के सारे ग्राउंड्स उनके लगाए हुए छक्कों के आज भी गवाह हैं । उनकी बौलिंग स्पीड का सामना कोई बल्लेबाज नहीं कर पाया और उनकी एक्टिंग का तो कोई जवाब ही नहीं है । जब वह एक्टिंग करते हैं सब उन्हें देखते रह जाते हैं । 'साईं बाबा' , 'विक्रम वेताल और काला जादूगर', 'मिशन यति' हाल में आई सिंह सदन प्रोडक्शन किफिल्म '
माओ' में वे अपनी एक्टिंग के जलवे बिखेर चुके हैंउनके बारे में और क्या लिखूं शब्द कम पड़ रहे हैं पर लेखनी को यहीं विराम देना होगा

अगले लेख में फिर कुछ नया लिखने कि कोशिश करूँगा ...............


जोनी {लैला }

5 comments:

सत्यम न्यूज़ said...

कमाल कर दिया जोनी तुमने.....क्या शानदार लिखा.श्यामू तो जो है सो है ही...लेकिन पोस्ट लिख कर तुमने तो मेरे ज़ेहन मैं अपनी छवि ही बदल ली.....क्या कहूँ.....अब तो बस यही गाना गाने का मन कर रहा है...लैला ओ.....लैला....हर कोई मिलना चाहे.....आज लातें खाने का प्रोग्रम पक्का.

SINGHSADAN said...

तो भई.....अब दूसरे जोनी का भी कमाल देख रहा हूँ. इस ब्लॉग पर पूरी इज्ज़त के साथ जोनी का स्वागत है....पहली पोस्ट ही जलवा- अफरोज कर दिया है.....आगे का हाल मैं अभी से सोच सकता हूँ. श्यामू की एक्टिंग- बोलिंग और उनके तमाम करतबों के विषय में सनसनीखेज तरीके से जोनी ने वर्णन किया है.....बहुत सुन्दर. आगे भी इसी तरह के आलेखों का बेसब्री से इन्तिज़ार रहेगा.

*****PK

amit said...

हेल्लो लैला ..........................

यहाँ पर जैसा की तुमने श्याम कान्त के बारे मैं जो कुछ भी लिखा है बिलकुल सही लिखा है,
श्याम कान्त की एक आदत है जो की मुझे सबसे अच्छी लगती है कि वो कभी किसी भी शख्श मे भेद भाव नही रखते है चाहे उसका स्तर छोटा हो या बड़ा / और एक ख़ास बात ये है कि मै आज तक किसी भी गेम या लड़ाई (आपस) क़ी कभी नही जीता ,पर आज तक हार नहीं मानी,ये बात वो जानते है पर फिर भी कभी भी इस बात को लेकर मुझसे वहस नहीं क़ी,धैर्य तो उनके अंदर कूट कूट कर भरा पड़ा है.और क्या क्या बताऊ अगर बताने बैठूँगा तो शायद पता नही कितना टाइम देना होगा,चुकी यहाँ कमेन्ट देना है,किसी दिन उन पर अपना लेख लिखूंगा /


और जोनी वाकई मै तुमारा लेख बहुत ही उम्दा किस्म का है,तुमने जो बाते लिखी है उनके बारे मै वास्तव मै तुमने कम समय मै बहुत कुछ जन लिया श्याम कान्त क बारे मै ,,..................
वास्तव मै तुम काबिले तारीफ़ हो.




चिंटू

SINGHSADAN said...

DEAR JONY TWO ...

sweet wtiting. no doubt yor are the generation next & hope of singh sadan. great article on a great personality. god bless you .

with love ...
PANKAJ K. SINGH

ShyamKant said...

वाह जोनी मुझे ये पता न था की तुम शानदार एक्टर के साथ शानदार लेखक भी हो