Total Pageviews

Friday, July 2, 2010

"बावरी हो री है क्या......?"







मसूरी के सर्द- बहारा मौसम से जैसे कुछ नज़ारे चुराने का जी चाह रहा था....पिछली बार मसूरी और अपने हालत बयां करने वाले चंद तस्वीरें आपको पोस्ट की थीं....इसी बीच कुछ नयी तस्वीर भी कैमरे में ज़ब्त की हैं....सोचा क्यूँ न आपके साथ शेर कर लूं.....हो सकता है की इन तस्वीरों को देखने के बाद आप भी डॉ उमा की तरह कह उठें "क्या टशनी फोटो हैं" या फिर यह कि "बावरी हो री है क्या......?"
*****PK

2 comments:

amit said...

हेल्लो भैया जी चरण स्पर्श ...................................

क्या बात है बहुत मौज ली जा रही है,पर कुछ भी हो , आप दोनों लोग बहुत ही अच्छे लग रहे है,

छोटा भाई
चिंटू

सत्यम न्यूज़ said...

वाह! डाकदर साब....तुम तो अमोल पालेकर लग रहे हो और भाभी कश्मीर की कली....