Total Pageviews

Friday, July 9, 2010

रिसर्च एनालिसिस....! (पार्ट-1)



पहेली क्रमांक 6 के परिणाम का बेसब्री से इन्तिज़ार था. इस पहेली का विश्लेषण करने से पूर्व कुछ भ्रांतियां दूर करना चाहता हूँ.

1. श्यामकांत ने इसे पहेली का नाम अवश्य दिया था, लेकिन यह पहेली नहीं थी....महज "घरेलू सामान्य ज्ञान" का सर्वे भर था जिसमे सिंह सदन के सदस्यों ने बढ़ चढ़ कर हिस्सेदारी की.....! श्यामकांत अपनी मौलिक सोच के लिए निसंदेह बधाई के पात्र हैं.

2. जब पहेली को " पहेली " के रूप में सिरे से ही नकार दिया गया है तो इसमें किसी के जीतने या हारने का प्रश्न ही नहीं उठता.....( ऐसा मैं इसलिए लिख रहा हूँ क्योंकि कतिपय सदस्यों द्वारा इसे जीत-हार या प्राप्तांकों से जोड़ के देखे जाने की खबर मुझे ‘ज्यूरी’ द्वारा दी गयी).

उपरोक्त शंकाओं के समाधान के उपरांत अब मैं सर्वे के प्रश्नों पर आ रहा हूँ.....सबसे पहले समस्त उत्तरदाताओं को धन्यवाद.......अपने उत्तर लोकतान्त्रिक तरीके से देने के लिए।

प्रश्नों का विश्लेषण

प्र o 1 में काम के प्रति अटूट श्रद्धा रखने वाला शख्स का नाम पूछा गया था.....उत्तर था पापा (श्री दुर्गपाल सिंह ). विवाद की कोई बहुत ज्यादा गुंजाइश तो नहीं थी मगर यहाँ भी 14 में से 5 उत्तर बहुमत से मैच नहीं किये. सबसे ज्यादा चौंकाने वाला उत्तर मम्मी का था जिन्होंने राकेश जीजा को कर्मठ पुरुष माना.

प्र o 2 में पाक कला में सर्वाधिक लोकप्रिय शख्स पुचा गया था, यह प्रश्न सर्वाधिक कठिन साबित हुआ.ज्यूरी ने ऊषा दीदी को सही उत्तर माना है जबकि 14 में से 4 (जो की सर्वाधिक थे ) मत उन्हें मिले.

प्र o 3 में पुरुष वर्ग में लाइफटाइम अचीवमेंट के रूप में ज्यूरी द्वारा बड़े मामा को चिन्हित किया गया है. जबकि उन्हें 14 में से 4 ही मत मिले थे .सर्वाधिक 9 मत पापा के पक्ष में थे.

प्र o 4 में महिला वर्ग में ज्यूरी द्वारा लाइफटाइम अचीवमेंट की असली हकदार जिया को माना गया है जबकि उन्हें 14 में से 3 मत मिले. 10 मतदातों ने मम्मी को इसका हकदार माना था, जबकि मम्मी ने स्वयं इसका हकदार आंटी को बताया था।

प्र o 5 - आध्यात्मिक नेतृत्व का असली हक़दार ज्यूरी के हिसाब से मम्मी को माना गया है जबकि 14 में से उन्हें कोई मत नहीं मिला था. जिन तीन नामों को लगभग 1/3-1/3 वोट मिले थे वे थे छोटे, बड़े और आश्चर्यजनक रूप से पंकज.

प्र o 6 - सर्वाधिक Creative बच्चा इशिका को माना गया जिनके खाते में 14 में से 12 वोट रहे ,शेष दो वोट आस्था के हिस्से में गए.

प्र o 7 - उचाईयों में पहुँचने वाला सबसे युवा शख्स के रूप में मान्यता मिली हृदेश सिंह को. यद्दपि पुष्पेन्द्र भी कुछ वोटर्स की पसंद बने.

प्र o 8 - सिंह सदन की शान के रूप में इस खाकसार को ज्यूरी ने चुना, वोटर्स ने भी मुझे अपना प्यार दिया शुक्रिया. वैसे मेरी पसंद पंकज थे.

प्र o 9 - पिछले एक वर्ष से सिंह सदन के युवाओं में सर्वाधिक चर्चा में रहने वाला शख्स के रूप में सबके मत अलग अलग रहे.....इसमें सबसे ज्यादा पसंद किये गए बबलू के लिए 6 तथा हृदेश सिंह के लिए 4 मतदाताओं ने अपने हाथ खड़े किये. ज्यूरी ने भी बबलू भी को ही चुना.

प्र o 10 - सिंह सदन का सबसे बड़ा खिलाडी नि:संदेह श्यामकांत हो सकते थे क्योंकि उन्हें 14 में से 7 मत मिले थे मगर गुनात्त्मक दृष्टि से पंकज के प्रदर्शन को अहमियत देते हुए उन्हें सिंह सदन का सबसे बड़ा खिलाडी नवाजा गया.

प्र o 11 - सिंह सदन में ग़ज़ल के अलावा ' Item Song ' लिखने वाला शख्स पुष्पेन्द्र कुमार कुमार रहे जिन्होंने सिंह सदन प्रोडक्सन की फिल्मों के लिए कुछ गीत वगैरह भी लिखे....मगर मतदाताओं ने उन्हें ठीक से नहीं पहचान पाया....यद्दपि ज्यादातर मतदाता भ्रम के शिकार रहे इसीलिए 14 में से 7 मत दिलीप को मिले.

प्र o 12 - सिंह सदन परिवार में सर्वाधिक उभरते कलाकार के रूप में श्यामकांत रहे.उन्हें 14 में से 5 मत मिले. उनके साथ चिंटू को 4, संदीप कुमार को 3 तथा अजीत कुमार (जोनी) को 2 वोट मिले.

प्र o 14 - सिंह सदन में महिला सशक्तिकरण की मिसाल ऊषा दीदी, अंजू, सुमन भाभी और नीलम संयुक्त रूप से रहे. इन्हें 14 में से 9 लोगों ने पसंद किया .

प्र o 15 - क्रिकेट में धूम मचा देने वाली सिंह सदन की सलामी जोड़ी के रूप में कोई कन्फ्यूजन नहीं रहा. चिंटू & श्यामकांत की जोड़ी को 14 में से 12 मत मिले.

अगली कड़ी में कल बताऊंगा कि किस वोटर ने अपने वोट का किस तरह उपयोग किया....तब तक के लिए अलविदा !

*****PK

2 comments:

सत्यम न्यूज़ said...

बहुत ही सुन्दर और विश्लेष्ण किया भैया...

SINGHSADAN said...

PANKAJ K. SINGH said...

Incredible analysis ... wonder piece of writing . i enjoyed it . well done .. bhaiya .