Total Pageviews

Tuesday, December 13, 2011

COMPREHENSIVE PERSONALITY TEST REPORT CARD 2011

VOLUME--16
AMMA AKA SMT. USHAKIRAN  JI  ....



मित्रों ... आज हम पहली बार सिंह सदन की महिलाओं को आपके सामने लाने की शुरुआत कर रहे है ...और इस से बेहतर  शुरुआत क्या होगी की पहला परिचय स्वयं  सिंह सदन  अग्रणी अम्मा से ही हो रहा है !
....तो मिलिये  सबकी प्रिय हरदिल अज़ीज़ अम्मा से ...


अम्मा सिंह सदन के लिए प्रेरणा स्रोत  है .....अम्मा के दिल  में  सबके  लिए प्यार है.
इस उम्र में भी अम्मा की उर्जा हम  सबको  सदा  काम करने का जज्बा देती है.....सच्ची कर्मयोगी हैं अम्मा .
सबसे प्यारी है........अम्मा. 


-----सचिन सिंह (लेखक एवं शायर)



अम्मा आज के दौर में श्रेष्ठता की एक प्रतीक बन गयी हैं ..उनका जीवन और उसकी गुणवत्ता सिंह सदन में सभी के लिए मील का पत्थर है  !     
.....   पंकज के .सिंह ( एडिटर,CPTR-2011,)

अम्मा से बेहतरीन गुणवान महिला मैंने अपने पूरे जीवन में नहीं देखी !मुझे गर्व है मुझे उनका अपार स्नेह मिला  !     
  ----ह्रदेश के सिंह  (जाने माने लेखक, पत्रकार और संपादक ) 

अम्मा मानवीय मूल्यों चिंतन व्यावहारिकता और ऊँचे आदर्शों का बेहतरीन समन्वय हैं             
----श्री पवन कुमार ( प्रख्यात प्रशासक, चिन्तक, लेखक एवं शायर ) 


COMPREHENSIVE PERSONALITY TEST REPORT CARD OF AMMA AKA SMT. USHAKIRAN  JI  ....

  • 1. व्यक्तित्व  ** 2.13
  • 2. रिश्तों में मर्यादा एवं उत्तरदायित्व की भावना * * 2.75
  • ३. जीवन मूल्यों के प्रति आग्रह * * 2.50
  • ४.  भौतिक उपलब्धियां * * 2.00
  • ५.  लोक जीवन एवं सार्वजनिक छवि * * 2.13
  • ६.  स्वास्थ्य एवं अनुशासन * * 3
  • ७. जीवन में आध्यात्मिकता एवं चिंतन शीलता * 2.75
  • ८ . सत्य का अनुश्रवण एवं सत्य का साथ देने की क्षमता *  1.75
  • ९.  जनहित एवं सेवा भावना * 2.25
  • १०.  आत्मविश्वास एवं प्रतिकूल परिस्थितियों से जूझने की क्षमता * * 2.25
  • ११. निर्विकार एवं निर्दोषता * * 1.63
  • १२. जिज्ञासु एवं नित नया सीखने की ललक *  2.13
  • १३. रचनात्मकता * 1.75
  • १४. वाक् निपुणता एवं भाषण शैली *  2.13
  • १५ .आत्म द्रष्टि एवं दूरद्रष्टि * 2.13
  • १६. साहस एवं निर्भीकता *  2.25
  • १७. सिंह सदन के गौरव को बढ़ाने में योगदान * 2.50
  • १८. अन्य सदस्यों  को प्रेरित करने की नेतृत्व  क्षमता * 1.88
  • १९.  प्रगतिशील द्रष्टिकोण एवं निरंतर प्रगति की ललक * 1.63
  • २०. निस्वार्थ एवं कपट रहित जीवन * 1.50
  •               TOTAL SCORE IS ..... 43.04

STATUS REPORT--अम्मा का ब्यक्तित्व  बेहद शालीन  एवं मर्यादित है!  वे  गंभीर  चिन्तक  भी  हैं ...और मर्यादित भी !छोटी सी जगह में पली- बढ़ी होने के बावजूद  उन्होंने अपने ब्यक्तित्व का हैरतंगेज विकास किया है !उनका  उच्च  अध्यात्मिक विकास और चिंतन उन्हें महानता      के स्तर पर  ले  जाता है !  
CADRE --- आध्यात्मि चिन्तक, प्रगतिशील, कर्मयोगी !   
NEGATIVE FACTOR--- बकौल प्रख्यात गीतकार पुष्पेन्द्र सिंह...अम्मा कई मुद्दों पर स्थिति स्पष्ट नहीं कर पाती हैं ...वे न्याय करने की बजाय स्वयं ही पार्टी बन जाती हैं ...कई बार वे मीठा बन कर पतली गली से निकल लेती हैं... जिससे हालात में कोई बेहतरी नहीं आती !   
MODEL --- soniya gandhi , Gandhaari .      

*****PRESENTED BY  PANKAJ K. SINGH(EDITOR,CPTR-2011) & PUSHPENDRA SINGH (ASSOCIATE EDITOR, CPTR- 2011)

5 comments:

Anonymous said...

अम्मा के विषय में बहुत ही बेहतरीन आलेख है, जिसके लिए लेखक बधाई के पात्र हैं. सचमुच बीते कई दशकों से वे सिंह सदन की रीढ़ हैं.... ईश्वर उन्हें हमारा मार्गदर्शक बनाये रखे.
जीवन के नित नए सीख देती हैं अम्मा
पुष्पेन्द्र का यह कहना की कई मामलों पर वे "बीच का रास्ता " तलाशती हैं.... हो सकता है सही हो मगर यह मैं जानता हूँ की उन्होंने जो भी किया है वो हमारी बेहतरी के लिए ही किया है. प्रगतिशील सोइच वाली आमा हम सबके लिए आदर्श हैं....! शत शत नमन अम्मा.


PK

SINGHSADAN said...

अम्मा के विषय में बहुत ही बेहतरीन आलेख है, जिसके लिए लेखक बधाई के पात्र हैं. सचमुच बीते कई दशकों से वे सिंह सदन की रीढ़ हैं.... ईश्वर उन्हें हमारा मार्गदर्शक बनाये रखे.
जीवन के नित नए सीख देती हैं अम्मा
पुष्पेन्द्र का यह कहना कि कई मामलों पर वे "बीच का रास्ता " तलाशती हैं.... हो सकता है सही हो मगर यह मैं जानता हूँ कि उन्होंने जो भी किया है वो हमारी बेहतरी के लिए ही किया है. प्रगतिशील सोच वाली अम्मा हम सबके लिए आदर्श हैं....! शत शत नमन अम्मा.

PK

SACHIN SINGH said...

AMMA JI KE PAAWAN CHARNO MEIN SHAT-2 NAMAN..... AAPKA PREM HAMARE LIYE
JINDADILI SE JINDA RAHNE KA JARIYA HAI...!!!!!

SABSE PYARA KAUN HAI......AMMA APNI AMMA.

SACHIN SINGH

SACHIN SINGH said...

AMMA JI KE PAAWAN CHARNO MEIN SHAT-2 NAMAN..... AAPKA PREM HAMARE LIYE
JINDADILI SE JINDA RAHNE KA JARIYA HAI...!!!!!

SABSE PYARA KAUN HAI......AMMA APNI AMMA.

SACHIN SINGH

psingh said...

परम आदर्णीय भैया ने
बिलकुल सच कहा अम्मा रीढ़ की हड्डी है सिंह सदन की
उनके जैसी प्रवल इच्छा शक्ति और जीवटता बहुत कम देखने को मिलाती
उन्हों ने हर रिश्ते को बहुत ही निष्ठां के साथ जिया है
इसी लिए इस युग में भी उन्हें श्रवणकुमार (श्रीमान श्री कृष्ण ) जैसा पुत्र प्राप्त हुआ है |
माँ बेटे का एसा तालमेल मैने अपने जीवन में नहीं देखा |
हमें अम्मा पर गर्व है |
और इश्वर से प्राथना है की उनका आशीर्वाद सभी पर यूँ ही बना रहे |