Total Pageviews

Saturday, April 10, 2010

इब्तिदा.........!


सिं सदका होम ब्लॉग “सिंह सदन -ए हट अंडर द स्काई” शुरू हो गया है...........इस ब्लॉग के ज़रिये हम आपको ‘सिंह सदन से’ जुडी हरचीज को सामने लेन का प्रयास करेंगे ..........यह एककारी प्रयास होगा जिसमें परिवार के अधिकाधिस्य जुड़ेंगे..........तो ब्लॉग प सिंह-सदन से जुडी हरगतिविधि और व्यक्ति का तार्रुफ़ करने का जिम्मा भी इसी घर के सदयों को ही लेना था......यह जिम्मेदारी घर के लोगों ने ली भी है। सभी ने अपने अपने रूचि के क्षेत्रों को चुना है, पूरे मन से उस कलम को लिखने का प्रयास भी किया है .......! सभी सदस्यों ने जिन विषयों पर जिन शीर्षकों के अंतर्गत लिखने का जिम्मा उठाया है.....उसे मैं ब्रीफ किये देता हूँ....


सुनहरी यादें-- यह कालम मेरे द्वारा लिखा जायेगा जिसमे सिंह सदन से जुड़े हुए हर पहलू को उकेरा जाएगा.


ताना बाना -- घर सिर्फ घर के सदस्यों से ही नहीं बनता....वो बनता है आस-पास के लोगों से, सिंह-सदन से जुड़े उन तमाम लोगों के विषय में इस कालम में लिखा जायेगा, इस कोलम को लिखने का जिम्मा टाइगर पंकज सिंह और मैं निभाएंगे।



आर्काइव -- खुशनुमा लम्हों को फोटो और वीडीओ में कैद करने की जिम्मेदारी और आप तक पहुँचाने की जिम्मेदारी ली है इस ब्लॉग के संपादक हृदेश ने.


तार्रुफ़--सिंह सदन के पारिवारिक सदस्यों के बारे में तफसील से लिखने की जिम्मेदारी ली है हृदेश, पंकज और ब्लॉग के उप संपादक पुष्पेन्द्र ने।


गतिविधियाँ-- घर की हर गतिविधि को ब्लॉग पर लाने की जिम्मेदारी ली है संपादक हृदेश ने। इसमें सामाजिक सारोकारों और त्योहारों के उल्लास को समेटा जायेगा.


दूसरा पहलू--घर के सदस्यों के छुपे हुए हुनर और उनके राजों को रोचक तरीके से पेश करने की जिम्मेदारी ली है अंजू और श्यामकांत ने.......जरा संभल कर रहिएगा.....!


फुलवारी-- बच्चों की प्यारी प्यारी गतिविधियों को आप तक पहुंचाएंगी प्रिया।


कतरन-- सिंह सदन के लोगों का पुराना शगल लेखन रहा है.....तो पुराने पत्र -पत्रिकाओं से कतरन पेश करेंगे उप संपादक पुष्पेन्द्र


फलक-- घर महज़ एक स्थानीय भौगोलिक इकाई नहीं होती...इसका विस्तार होता है वहां तक जहाँ तक घर के सदस्य रहते हैं......कसौली-गाजीपुर-मेदेपुर-गोरखपुर-नगला रते यह सब भी सिंह सदन के विस्तार हैं......नए फलक हैं, यहाँ की गतिविधियों को सामने लाने का जिम्मा उठाएंगे उप संपादक पुष्पेन्द्र......!


4 comments:

psingh said...

परम श्रधेय परम आदर्णीय भैया
आप ने जो www.singhsadan.blogspot.com की नीव डाली है वह एक महान कार्य है |
जो पूरे परिवार को नई ऊंचाइयां प्रदान करेगा और
सभी परिवार वाले सारी गतिविधियों से अवगत रहेंगे|
सिंह सदन परिवार आज जो हिमालय की तरह ऊंचाइयां
छू रहा है तो वह आपकी की छत्र छाया में क्योंकि आप
इस हिमालय रूपी सिंह सदन को अपनी ऊँगली पर उठाये
हुए है | और जिसको आप सहारा दे दें उसका उत्थान तो निश्चित है |
हम सभी सिंह सदन वासी इश्वर के बहुत बहुत आभारी है |
उसने इस परिवार की डोर आप जैसे महान व्यक्ति के शसक्त हाथों
में सोंपी है |
ईश्वर आप जैसा भाई आप जैसा बेटा हर मां को दे |
हर परिवार को दे |
भैया एक कृष्ण द्वापर में हुए दूजे कृष्ण आप है |
"कलयुग के कृष्ण -पवन कुमार "

SINGHSADAN said...

dearest sigh sadan,
we all are heart core of yours. every moment of life we have lived all of us enjoyed it with each other. all of us are really made for each other.we have a great maa, greatest elder brother,nearly to maa bhabhi maa, lovely younger brothers-hirdesh'jony',pushpendra'pintoo' shyamu,pretty newcomer priya,jigar ke tukade - ishi & lichi.singh sadan have such nice evergreen joyfull charactrs like-mama hari & shri, idel maamies,dr.raman,poet pramod ratna ji, madam usha ji and a energetic youngsters brigade lead by hirdesh & shyamu. it seems very exciting that all the great heroes of singh sadan is now launching on a single platform . this blog is relly going to be great. heavy high voltage under current is running on.

pankaj said...

thi is really what we are waiting for..... with love & wishes...TIGER

pankaj said...

CONGRATS ALL LOVING MEMBERS OF SINGH SADAN......