Total Pageviews

Thursday, September 30, 2010

हाज़िर हूँ........सलाम क़ुबूल करें !






इधर काफी दिनों से कुछ नहीं लिखा....दरअसल टाइम ही नहीं मिल पाया. रक्षा बंधन पर चाहकर भी मैनपुरी नहीं आ सका.सिंगापुर और विएतनाम से लौटने के बाद सीधे बदायूं में आ गया..... यहाँ आकर बाढ़, शांति-व्यवस्था और पंचायत चुनाव के काम में इतना व्यस्त हो गया कि पता ही नहीं चला कब दो महीने ब्लॉग पर बिना लिखे पढ़े बीत गए....एहसास तब हुआ जब बीते दिनों में प्रिय पंकज, पिंटू के आलेख और नवोदित दिलीप की कविता पढने को मिली. इधर पंकज और श्यामू का जन्मदिन भी निकल गया...कोई आयोजन भी नहीं हो पाया, पंकज नोएडा में व्यस्त रहे तो श्यामू अपने आई ए एस की परीक्षा की तैयारी में लगे रहे. सिंह सदन कि तरफ से दोनों को हार्दिक कोटिश: बधाई. जैसे ही इन सब को फुर्सत मिलेगी....पूरे जोश- खरोश के साथ हंगामा काटा जायेगा. इस बीच पिंटू की लेखन सक्रियता राहत देने वाली है, उनके गीत -ग़ज़ल इस रेगिस्तान में बरसात कि तरह राहत देते रहे.......एडिटर साहब यानि हंसमुख जोनी का स्वस्थ कुछ गड़बड़ है, यह सुखद नहीं है.....! भाई जोनी, तुम्हे न केवल अपने स्वास्थ पर ध्यान देना होगा, प्रिया के स्वास्थ्य के प्रति भी गंभीर होना पड़ेगा. अंजू का स्थानांतरण भी बदायूं हो गया है......यद्दपि उनको अपनी पोस्टिंग में समझौता करना पड़ा है, मगर समझौता जिंदगी का शायद दूसरा नाम है. प्रमोद भैया के बारे में "मैजिकल" खबर है कि वे स्वस्थ और सानंद हैं......बढ़िया है. चिंटू एंड पार्टी भी मज़े में है......मगर बिटिया कहाँ गायब है....? न कोई कविता न कोई पेंटिंग......क्यों जी ऐसा क्या ? दिलीप साहब तो हैं मगर संदीप तुम कहाँ मौन साढ़े हुए हो......? बदायूं आकर इशिका लीची का एड्मिसन माथर एथीना स्कूल में हो गया है......और इशिका ने तो महज़ बीस दिन की तैयारी में अपना कोर्स पूरा किया.... टर्म इम्तिहान भी दिए और कुछ विषयों में तो अपने क्लास में सर्वाधिक अंक भी प्राप्त किये.......! सिंह सदन परिवार में एक सदस्य की बढ़ोत्तरी भी हो गयी है......पग ब्रीड की दो महीने की प्यारी प्रिंसी घर में आ चुकी है.......फोटो लगा रहा हूँ.....! प्रिंसी फ्रांस की है.....और उसी जेनरेसन/ ब्लड लाइन की है जिस लाइन के एक पग को वोडाफोन के विज्ञापन में दिखया गया था.......! मेदेपुर में छोटे-बड़े, पंजाब में महेश मौसा, बंबई में राकेश जीजा से और विमलेश जी से भी बात होती रही है, सब मज़े में हैं........सबकी खैर खबर मैं ले रहा हूँ ताकि नए परिवर्तनों के बारे मे पता चल सके......!


*** एक ज़रूरी बात और .......................!

सिंह सदन के समस्त सदस्यों को एक खबर देना चाहूँगा कि महान कवि- लेखक कन्हैया लाल नन्दन नहीं रहे गत सप्ताह उन का देहांत हो गया है...... इस महान लेखक से हम सबका नाता है..... दरअसल सिंह सदन की प्रोफाइल की शरुआत जिस शेर से होती है वो नंदन जी का ही शेर है........सभी सदस्यों की तरफ से नंदन जी को नमन और अश्रुपूरित श्रद्धांजलि। उनकी एक बहुत भावनात्मक कविता जो मुझे बहुत पसंद है आप सबको सुनाने का जी चाह रहा है.......,


खारेपन का एहसास
मुझे था पहले से
पर विश्वासों का दोना
सहसा बिछल गया
कल,
मेरा एक समंदर
गहरा गहरा सा
मेरी आँखों के आगे उठला निकल गया।

जल्दी ही पुन: भेंट होगी........नमस्कार !
******
PK

2 comments:

psingh said...

परम श्रधेय बड़े भैया सादर प्रणाम
बहुत दिनों बाद आप के कर कमलों द्वारा कुछ लिखा गया
वो भी इतना अच्छा की दिल को छू गया..........आपकी पोस्ट
को पढ़ कर जो प्रशन्नता हुई है वो में बयां नहीं कर सकता
इतनी व्यस्ताओं के बावजूद भी आप ने सब का हाल बयां कर दिया
वो भी इतनी सादगी और खूबसूरती से ........
मुझे ही नहीं अपितु पूरे सदन को आप की पोस्ट का इंतजार बहुत ही बेसब्री से था
अब आप का आदेश हुआ है तो फिर से " हंगामा-ए-जश्न होगा" | इस ब्लॉग की फसल
फिर से लहलहाएगी |
श्री कन्हया लाल जी को भाव भीनी श्रधांजलि|
साभार

SINGHSADAN said...

चरण स्पर्श बड़े भैय्या ..............
आपकी काफी याद आ रही है पर आ सकने में मैं असमर्थ हूँ ............
पेपर के बाद आने का प्रयास करूँगा ...............................................
फ़ोन पर बात भी नहीं हो पा रही है लेकिन कोई बात नहीं हम ब्लॉग के बावत मिल रहे हैं .......
मै सभी सदस्यों को लेकर ब्लॉग पर आ गया हूँ ......
संदीप चिंटू टिंकू बिटिया सभी ब्लॉग पर जल्दी ही आ जायेंगे ...............................................
उम्मीद है कि आप सभी के साथ दिवाली पर जरूर आएंगे ....................
हम आप का इंतज़ार कर रहे हैं ...............................

श्याम kant